अयोध्या में विवादित जमीन की निगरानी के लिए नियुक्त होंगे नए ऑब्जर्वर

7

Source: m.punjabkesari.in

अयोध्या में विवादित जमीन की निगरानी के लिए नियुक्त होंगे नए ऑब्जर्वर

नई दिल्लीः अयोध्या में विवादित जमीन की निगरानी के लिए देश की शीर्ष अदालत भी बेहद गंभीर है। सुप्रीम कोर्ट ने इलाहाबाद हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस से दो जिला जजों को इस मामले में ऑब्जर्वर बनाने के लिए कहा है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि 10 दिन के भीतर नए पर्यवेक्षकों की नियुक्ति की जाए।

अयोध्या की विवादित जमीन की निगरानी के लिए अब नए ऑब्जर्वर नियुक्त होंगे। सुप्रीम कोर्ट ने इलाहाबाद हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस से कहा है कि वह 10 दिन में दो न्यायमूर्ति को ऑब्जर्वर नियुक्त करें। इनमें जिला जज, अतिरिक्त जज या स्पेशल जज हो सकते हैं। सुप्रीम कोर्ट ने छह जिलों के जजों की सूची इलाहाबाद हाईकोर्ट को वापस भेजी है।

इस बारे में बाबरी मस्जिद के पैरोकार मोहम्मद हाशिम की तरफ से पेश हुए वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल की मांग को सुप्रीम कोर्ट ने ठुकरा दिया। कपिल सिब्बल ने मांग की थी कि पहले के ऑब्जर्वर टीएम खान और एसके सिंह को इस पद पर ऑब्जर्वर रहने दिया जाए। सिब्बल ने कहा कि यह बीते 14 वर्ष से ऑब्जर्वर हैं।

बता दें कि वर्तमान पर्यवेक्षक अपने रिटायरमेंट की वजह से आगे की सेवा नहीं दे पाएंगे। दरअसल ये सेशन जज थे, जिनमें एक टीएम खान रिटायर हो गए हैं और एसके सिंह हाईकोर्ट के जज बन गए हैं। ऑब्जर्वर हर दो हफ्ते में जगह का निरीक्षण कर वहां के हालात को बराबर देखते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here