इस बार धनतेरस पर खरीदें ये खास चीज, मां लक्ष्मी लाएंगी बरकत

25

Source: religion.bhaskar.com

धनतेरस पर इस खास चीज को घर लाने से आप पर मां लक्ष्मी की कृपा हमेशा बनी रहेगी।इस बार धनतेरस पर खरीदें ये खास चीज, मां लक्ष्मी लाएंगी बरकत

घर में सुख-शांति बनी रहे, मां लक्ष्मी जी की कृपा बनी रहे, भला ऐसा कौन नहीं चाहता। दिवाली का त्योहार आने वाला है और ऐसे में मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए लोग पूरे श्रद्धा भाव से पूजा करते हैं ताकि देवी मां की कृपा उन पर बनी रहे और घर में बरकत में लाए।
लेकिन अगर आप चाहते हैं कि लक्ष्मी मां हमेशा के लिए आपके घर में बस जाए तो इसके लिए यह तरीका आजमाएं। धनतेरस के दिन वैसे तो सोना चांदी या फिर बर्तन खरीदने की परंपरा है, लेकिन इस बार ये चीजें खरीदने के अलावा घर में खड़ा धनिया यानि साबुत धनिया खरीदकर लाएं और रात को उसे मां लक्ष्मी जी की मूर्ति के सामने यानि उनके चरणों में रख दें।
सुबह उठकर नहा-धोकर उस धनिए को मिट्टी में बो दें। माना जाता है कि अगर उस धनिए से हरा-भरा पौधा निकले तो मतलब है कि आर्थिक स्थिति मजबूत रहती है। अगर धनिया पौधा ना निकले या पीले रंग को हो तो मतलब है कि आर्थिक स्थिति बेहद कमजोर रहेगी। इसी तरह
अगर धनिए का पौधा पतला निकले तो समझे की आर्थिक स्थिति सामान्य रहेगी।

पीतल के बर्तन भी खरीदें, मिलेगा ये सुख

धनतेरस के दिन धन के देवता यानि कुबेर देवता की पूजा की जाती है। धनतेरस को धनवंतरि जयंती भी कहा जाता है। इस दिन शाम को यमराज देवता के नाम का एक दीपदान करें। ऐसा करने से पूजा करने वाले और उसके परिवार को यमराज के कोप से सुरक्षा मिलती है।
इस दिन पूजा करने के लिए बर्तन तो अवश्य ही खरीदकर लाएं, साथ ही झाड़ू और सूपड़ा भी खरीदें और उनकी पूजा करें। घर और पूजा स्थल को सजाएं। घर से लेकर नदी के घाट, कुल देवता और अन्य जगहों पर दीप जलाएं और शाम को नहा-धोकर यमराज देवता की कहानी
पढ़ें और पूजा करें। कुछ लोग इस दिन उपवास भी रखते हैं।
इस दिन पीतल के बर्तन भी खरीदें। माना जाता है कि पीतल धन्वंतरि देवता का प्रिय धातु है। इसलिए इसे घर में लाने से सौभाग्य, स्वास्थ्य और निरोगी काया मिलती है।

धनतेरस की पूजा

पूजा स्थल पर लकड़ी का एक पाटा रखें और उस पर स्वास्तिक का निशान बनाएं। अब उस पर एक मिट्टी का दीया जलाएं। उस दीए में थोड़ी सी चीनी, चावल और 1 रुपए का सिक्का भी डालें।
इसके बाद उस दीए पर फूल अर्पित करें और पूरे परिवार के साथ हाथ जोड़कर ध्यान करें।
अब उस दीए को उठाकर घर के गेट के पास दाहिनी तरफ रखें। ध्यान रहे कि दीए की लौ दक्षिण दिशा की तरफ हो।
अब यमराज देवता के नाम का एक दीप जलाकर उनकी पूजा करें। साथ ही धन के देवता कुबेर को भी पूजें।

करें इस मंत्र का जाप

धन के देवता कुबेर का ध्यान करने के लिए उनके इस मंत्र का 108 बार जाप करें – ॐ धन धनवंतारये नमः।
कुबेर पूजन के बाद मां लक्ष्मी और भगवान गणेश की पूजा करें। माना जाता है कि इनकी पूजा के बिना धनतेरस की पूजा अधूरी रहती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here