दिवाली के दिन भूलकर भी न करें ये 7 काम, रूठ जाएंगी मां लक्ष्मी

17

Source: religion.bhaskar.com

आइए जानते हैं उन कामों के बारे में जो दिवाली वाले दिन करने से बचना चाहिए।

दिवाली के दिन भूलकर भी न करें ये 7 काम, रूठ जाएंगी मां लक्ष्मी

दिवाली 19 अक्तूबर को मनाई जाएगी और पूरे देश में दिवाली के लिए लोग तैयारियां आरंभ कर चुके हैं। बाजार सज चुके हैं और घरों की सफाई और पूजा की खरीदारी जोरों पर है। दिवाली यूं तो पांच दिन का त्यौहार है और इन पांच दिनों में लोगों  व्यवहार में संतुलन बनाए रखना चाहिए। लेकिन दिवाली वाले दिन कुछ खास बातों का ध्यान रखना जरूरी है ताकि लक्ष्मी की होने वाली कृपा में रुकावट न आ जाए।
आइए जिक्र करते हैं उन निषेध कामों का जिन्हें दिवाली वाले दिन करने से बचना चाहिए। मान्यताएं हैं कि ये कामकाज शुभ दिन में निषेध बताए जाते हैं औऱ ऐसा करने से मां लक्ष्मी रुष्ट होती हैं।

1. झाड़ू को पैर न लगाएं

यूं तो कभी भी झाड़ू को पांव नहीं लगाना चाहिए लेकिन दिवाली के दिन झाड़ू को इस्तेमाल करने के बाद ऐसी जगह रख दें जहां आपका पैर और किसी की नजर उस पर न पड़े। झाड़ू लक्ष्मी का प्रतीक है और इस दिन इसका निरादर करने पर मां लक्ष्मी रूठ जाती हैं।

2. शराब न पिएं

दिवाली शुभ दिन है और इस दिन मदिरापान न करें। इस दिन नशा करने वाले सदैव के लिए दरिद्रता को आमंत्रित करते हैं।

3. लड़ाई झगड़ा न करें

याद रखें कि भगवान गणेश शुभ और शांति के प्रतीक हैं।अगर आप दिवाली के दिन अहम और क्रोध के चलते लड़ाई करेंगे तो सारे साल भर आपको इसी तरह के लड़ाई झगड़ों का सामना करना पड़ेगा। इस दिन क्रोध और अहम का त्याग कर दें और बड़ों का अनादर बिलकुल न करें। प्रफुल्ल मन वालों के यहां लक्ष्मी ज्यादा देर तक ठहरती हैं क्योंकि वहां क्लेश नहीं होता।

4. शाम को नींद न लें

जिन लोगों को दिन ढलने पर भी सोने की आदत है, इनके लिए थोड़ा मुश्किल हो सकता है। लेकिन कोशिश करें कि बीमार या जरूरतमंद को ही शाम के समय बिस्तर पर आराम करने दे। कहा जाता है कि दिवाली के दिन सूर्यास्त का समय देवी लक्ष्मी के आगमन का समय माना गया है और ऐसे समय में परिवार में किसी से सोने से लक्ष्मी लौट सकती हैं। इसलिए सूर्यास्त के बाद का समय दिवाली की तैयारी, पूजा पाठ और लक्ष्मी के आगमन का आह्वान करते हुए बिताएं

5.जुए में पैसे न लगाएं

हालांकि कई कथा किवदंतियों में दिवाली की रात जुआ खेलने की बात कही गई है लेकिन आप रुपए पैसे से जुआ खेलने से परहेज करें। देवी लक्ष्मी जुए में लगाए पैसे को अपना अनादर समझती है औऱ ऐसे घरों में प्रवेश नहीं करती। हां, मनोरजंन के लिए चौसर और ताश खेलना अलग बात है लेकिन पैसे को दांव पर मत लगाएं। ऐसा करना कुबेर का भी अपमान होगा और इससे आपके वैभव और समृद्धि पर बुरा असर पड़ेगा।

6. बिल्ली को न भगाएं

इस दिन बिल्ली का दिखना भाग्यशाली माना जाता है। यदि कहीं आपको बिल्ली दिख जाए तो उसे प्रणाम करें लेकिन उसे भगाएं या डराएं नहीं। बिल्ली को लक्ष्मी का प्रतीक माना जाता है औऱ कहते हैं कि जिन घरों में दिवाली के दिन बिल्ली दिख जाएं, वहां साल भर बरकत रहती है।

7. रात को बिलकुल अंधेरा न करें

दिवाली की रात जब सोने का समय हो तो घर में बिलकुल अंधेरा न करें। कथाओं में कहा गया है कि मां लक्ष्मी अपने वाहन उल्लू पर सवाल होकर जगमगाती जगहों पर जाती हैं। घनघोर अंधेरा देखकर लक्ष्मी जी लौट जाती हैं। इसलिए रात को अपने घर में कुछ रौशनी जरूर रहने दें। हालांकि आजकल बिजली की लड़ियां रात भर घर को रौशन करती हैं। इतना ही नहीं पूजा के समय जलाया गया दीपक भी रात भर जलता है जो मां लक्ष्मी का आह्वान करता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here