गजब: छत्तीसगढ़ के चंडी के मंदिर में प्रसाद लेने आते हैं भालू

13

Source: navbharattimes.indiatimes.com

bear comes maa chandi temple during navratri

रायपुर: छत्तीसगढ़ के महासमुंद जिले में चंडी देवी का एक मंदिर बहुत प्रसिद्ध है। इस मंदिर में श्रद्धालुओं के साथ भालुओं की दोस्ती देखने मिलती है। हर शाम आरती के समय भालुओं का एक परिवार मंदिर में पहुंचता है। माता का प्रसाद लेता है और फिर वहां से बिना किसी इनसान को नुकसान पहुंचाए जंगल में लौट जाता है।

कहा जाता है कि भालू कभी 2 तो कभी 4 की संख्या में मंदिर पहुंचते हैं। हैरानी की बात यह है कि भालू मंदिर में आकर श्रद्धालुओं के साथ पूरी तरह दोस्ताना व्यवहार करते दिखते हैं जैसे कोई पालतू जानवर हों। वन्यजीव विशेषज्ञों के लिए भी यह हैरानी की बात है। उनका कहना है कि आम तौर पर जंगल में भालू का किसी इनसान से सामना हो जाए तो भालू की ओर से हमले की पूरी संभावना रहती है। चंडी के मंदिर में भालू इस तरह से पेश आते हैं जैसे श्रद्धालुओं के घर के ही कोई सदस्य होंय़

यह चंडी मंदिर महासमुंद जिले के घूंचापाली गांव में स्थित है। भालुओं की भक्ति देखकर दूर-दूर से श्रद्धालु यहां पहुंचते हैं। पहाड़ी पर स्थित चंडी देवी के इस मंदिर का इतिहास डेढ़ सौ साल पुराना है। यहां चंडी देवी की प्रतिमा प्राकृतिक है। मंदिर में आने वाले श्रद्धालु भालुओं को देखने के लिए कई बार घंटों इंतज़ार करते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here