गुरु पूर्णिमा पर आजमाएं ये चमत्कारिक उपाय, सुधरेगी आर्थिक स्थिति आैर होगा भाग्योदय

112

Source: rajasthanpatrika.patrika.com

जयपुर। माता-पिता के बाद जीवन में गुरु का स्थान अहम होता है। माता-पिता जहां जिंदगी देते हैं वहीं एक गुरु जिंदगी जीना सिखाता है। गुरु पूर्णिमा के अवसर पर गुरु वंदना श्रेष्ठ फलदायक होती है। ज्योतिषियों के मुताबिक यदि किसी जातक की कुंडली में गुरु की स्थिति अशुभ फल दे रही है तो उन कष्टों को कुछ आसान उपायों के जरिए दूर किया जा सकता है।

कुंडली में मौजूद गुरु की स्थिति यदि अशुभ फलदायी है तो इससे जातक की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं रहती आैर उसके वैवाहिक जीवन पर भी प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। गुरु दोष के चलते यदि आप परेशान हैं तो फिर आपको गुरु पूर्णिमा के दिन कुछ चमत्कारी उपाय जरूर करने चाहिए। इससे गुरु प्रसन्न होंगे आैर शुभ फल देंगे।

– गुरु पूर्णिमा के दिन सबसे पहले अपने गुरु को नमन करें। यदि आपने किसी को गुरु नहीं बनाया है तो आपको चाहिए कि भगवान विष्णु को गुरु मानकर नमन करें। भगवान विष्णु का पूजन करें आैर उनसे जीवन में व्याप्त कष्टों को हरने आैर कृपा बरसाने की प्रार्थना करें।

– गुरु पूर्णिमा के दिन बहुत से लोग गुरु बनाते हैं। यदि आपने किसी को भी अपना गुरु नहीं बनाया है या फिर आपको लगता है कि इस संसार में सच्चा गुरु मिलना मुश्किल है तो फिर आप अपने इष्टदेव को गुरु मानकर उनका पूजन करें।

– छात्रों को यदि अध्ययन संबंधी बाधाआें से जूझना पड़ रहा है या पढ़ार्इ में मन नहीं लगता है तो वे गुरु पूर्णिमा के दिन गीता का पाठ करें। साथ ही इस दिन वे भगवान कृष्ण का पूजन आैर गौसेवा करें।

– भाग्योदय नहीं होने या खराब आर्थिक स्थिति से जूझने वाले लोगों को जरूरतमंदों को पीले अनाज, वस्त्र आैर पीली मिठार्इ का दान करें।

– इसके अतिरिक्त गुरु पूर्णिमा पर गुरु यंत्र बनाकर उसे शुभ मुहूर्त में स्थापित करना चाहिए आैर इसका विधिवत पूजन करें।

– गुरु पूर्णिमा के दिन भगवान विष्णु के चित्र के समक्ष या ठाकुरजी के मंदिर में घी का दीपक जलाएं। इससे भी शुभ प्रभाव मिलता है आैर कष्ट दूर होते हैं।

गुरु के लिए इस मंत्र का करें जाप
“ॐ बृं बृहस्पतये नमः” का गुरु पूर्णिमा पर जाप करें। ये मंत्र सिद्घ करने का खास दिन है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here