झुकने वाला ही सबसे बड़ा होता है : सौरभ मुनि

3

Source: bhaskar.com

चंडीगढ़| दूसरोंको नमस्कार करने से भी पुण्य अर्जित होता है। नमन करने में और कुछ भी नहीं करना पड़ता, केवल अहं को ही…

Image result for सौरभ मुनि

चंडीगढ़| दूसरों को नमस्कार करने से भी पुण्य अर्जित होता है। नमन करने में और कुछ भी नहीं करना पड़ता, केवल अहं को ही नमाना पड़ता है। नम्र होना सबसे कठिन है। केवल सिर झुकाने से ही पुण्य हो सकता है। वैदिक, बौद्ध तथा जैन सभी संस्कृतियों में नमन का उल्लेख किया गया ेहै। नमन करने से आत्मिक उत्थान एवं कल्याण भी सम्भव है। ये प्रवचन सेक्टर 18 जैन स्थानक में चातुर्मास के लिए विराजित संत सौरभ मुनि महाराज ने दिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here