मंदिर में पुजारी की हत्या

8

Source: navbharattimes.indiatimes.com

चोरों ने दिया वारदात को अंजाम, मर्डर के बाद दानपात्र से नकदी ले उड़े बदमाश

बुधवार सुबह जब लोग मंदिर गए तो पुजारी का शव देखा, चारों ओर खून फैला था

एक संवाददाता, रेवाड़ी

बदमाशों ने गांव बोलनी में मंदिर के पुजारी की तेज धारदार हथियार से वारकर हत्या कर दी। फर्श पर चारों ओर खून फैला हुआ था। वारदात के बाद बदमाश दानपात्र से नकदी ले उड़े। बुधवार सुबह हत्या का पता चलते ही भारी संख्या में ग्रामीण जमा हो गए। इसके बाद पुलिस की टीम भी मौके पर पहुंची।

गांव बोलनी के खेड़ी मोतला रोड स्थित दादी मां के नाम से विख्यात मंदिर है। यहां पर गुड़गांव के भांगरौला निवासी रणधीर सिंह (75) पुजारी थे। मंगलवार रात कुछ बदमाश चोरी के इरादे से मंदिर में घुसे। आशंका है कि चोरों के अंदर आने की आहट सुनकर पुजारी रणधीर सिंह की नींद खुल गई होगी। हो सकता है उन्होंने चोरों का विरोध किया हो। इस पर बदमाशों ने तेज धारदार हथियार से सिर पर वारकर पुजारी की हत्या कर दी। इसके बाद बदमाश दानपात्र को तोड़कर उसमें से नकदी निकाल ले गए। मंदिर परिसर में घटनास्थल पर खून फैला था। बुधवार सुबह गांव की महिलाएं मंदिर पहुंची तो पुजारी को खून से लथपथ देखकर घबरा गईं। उन्होंने इसकी सूचना सरपंच व पुलिस को दी। सूचना मिलते ही पुलिस की टीम मौके पर पहुंच गई। कसौला थाना पुलिस के अधिकारी चंद्रशेखर ने बताया कि अज्ञात के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया गया है। चोरी की वारदात करने वाले चोरों ने हत्याकांड को अंजाम दिया है।

गांव के सरपंच और मंदिर कमिटी के सदस्य नरेश कुमार ने बताया कि पुजारी रणधीर सिंह पिछले 35 वर्षों से लगातार मंदिर के जीर्णोद्धार में लगे थे। शव के अंतिम संस्कार को लेकर गांव बोलनी व निकटवर्ती गांव गढ़ी की पंचायतों में विवाद खड़ा हो गया। दोनों पंचायतें अपने-अपने गांव में अंतिम संस्कार करने पर अड़ी हुई थीं। हालांकि परिजनों ने भांगरौला में ही अंतिम संस्कार करने बात कही। इसके बाद मामला शांत हो गया।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here