वडनगर ने मुझे जहर पीना सिखाया, शिव की कृपा से देशसेवा का मौका मिला: मोदी

10

Source: bhaskar.com

2014 में प्रधानमंत्री बनने के बाद नरेंद्र मोदी पहली बार रविवार को अपने जन्मस्थान वडनगर के दौरे पर आए।वडनगर ने मुझे जहर पीना सिखाया, शिव की कृपा से देशसेवा का मौका मिला: मोदी, national news in hindi, national news

मोदी वडनगर स्थित अपने स्कूल पहुंचे और वहां की मिट्टी माथे से लगाई।

वडनगर (गुजरात). प्राइम मिनिस्टर बनने के बाद रविवार को पहली बार नरेंद्र मोदी अपने जन्म स्थान वडनगर पहुंचे। उन्होंने यहां एक रोड शो किया और उस स्कूल में गए, जहां उन्होंने पढ़ाई की थी। मोदी ने 2001 में चीफ मिनिस्टर और 2014 में प्राइम मिनिस्टर बनने के सफर को याद किया। उन्होंने कहा, “2001 में लोग मुझ पर जहर उगलते थे। मेरे शहर वडनगर ने मुझे जहर पीना सिखाया और भगवान शिव की कृपा से मुझे देश की सेवा करने का मौका मिला।” और क्या बोले प्राइमिनिस्टर नरेंद्र मोदी…

भोले के आशीर्वाद से जहर पीने की ताकत मिली

– “मैंने अपने सफर की शुरुआत वडनगर से की और अब मैं काशी पहुंच गया हूं। वडनगर की ही तरह काशी भी भोलेबाबा का शहर है। भोलेबाबा ने मुझे बहुत शक्ति दी और ये शक्ति सबसे बड़ा तोहफा है, जो मुझे इस जमीन से मिला। भोले बाबा के आशीर्वाद ने मुझे जहर पीने और पचाने की ताकत दी। इस क्षमता की बदौलत मैं हर उस शख्स को जवाब दे पाया जो 2001 से मुझ पर जहर उगलता रहा। इससे मुझे इतने सालों तक पूरी निष्ठा के साथ मातृभूमि की सेवा करने का मौका मिला।”
गुजरात दंगों के आरोपों पर मोदी ने दिया जवाब
– नरेंद्र मोदी ने कहा, “2001 में जब में सीएम बना तो कुछ लोग मुझ पर जहर उगलते थे, लेकिन मेरे शहर वडनगर ने मुझे जहर पीना सिखाया। 2001 से अब तक लोग मुझ पर जहर उगलते रहे हैं, लेकिन भगवान शिव की कृपा से मुझे देश की सेवा करने का मौका मिला है।”
– मोदी ने ये बात 2002 में हुए गुजरात दंगों के बारे में उनके खिलाफ की गई बयानबाजी के जवाब में कही। उस दौरान मोदी गुजरात के चीफ मिनिस्टर थे।

 मोदी ने अपने स्कूल की मिट्टी माथे से लगाई

– मोदी ने स्कूल की मिट्टी से माथे पर तिलक लगाया। इसके बाद उन्होंने हाटकेश्वर शिव मंदिर में पूजा-अर्चना की। मोदी ने 600 करोड़ की लागत से बने हॉस्पिटल का लोकार्पण भी किया। इससे पहले शनिवार को मोदी ने द्वारकाधीश मंदिर के दर्शन किए थे। उसके बाद ओखा-बेट द्वारका पुल समेत कई योजनाओं का शिलान्यास किया था।

वडनगर ने मुझे भिगो दिया

– मोदी ने कहा, “एक बार भारतीय सेना के चीफ जनरल करियप्पा कर्नाटक में अपने गांव गए थे। तब उन्होंने कहा था कि जब वो दुनियाभर में जाते थे तो लाखों सैनिक उन्हें सैल्यूट करते थे। लेकिन अपने गांव में अपनों के बीच स्वागत होता है तो उसका अहसास कुछ और ही होता है। वडनगर के लोगों के प्यार ने मुझे भिगो दिया है। मैं आपको और इस धरती को नमन करता हूं। इतना प्यार, दुलार दिल को छू लेने वाली घटना है।”
– “आज मैं जो कुछ हूं, इसी मिट्टी के कारण हूं। इसी मिट्टी में और आपके बीच पला-बढ़ा हूं। आज जब मंदिर में दर्शन के लिए जा रहा था तो लोगों को सैलाब उमड़ पड़ा। कई पुराने दोस्तों को देखा, जिनके अब दांत भी नहीं बचे हैं। कुछ तो हाथ में लकड़ी लेकर चल रहे थे। बहुत आनंद मिला। 15 साल बाद फिर एक नई ऊर्जा लेकर जा रहा हूं और देश के लिए पहले से ज्यादा मेहनत करूंगा।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here