राहुल ने गुजरात दौरे के आखिरी दिन किया भजन-कीर्तन, इस साल 16वीं बार मंदिर गए

5

Source: bhaskar.com

कांग्रेस उपाध्यक्ष का गुजरात दौरे का आखिरी दिन। राहुल की मंदिर यात्रा यूपी विधानसभा चुनाव से शुरू हुई थी।

राहुल ने गुजरात दौरे के आखिरी दिन किया भजन-कीर्तन, इस साल 16वीं बार मंदिर गए, national news in hindi, national news

राहुल गांधी ने सलैया गांव के संत कबीर मंदिर में श्रद्धालुओं के साथ भजन कीर्तन किया।

देवगढ़ बारिया (गुजरात). कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी अपने गुजरात दौरे के आखिरी दिन बुधवार को दाहोद जिले के सलैया गांव पहुंचे। वहां उन्होंने संत कबीर मंदिर में पूजा की और श्रद्धालुओं के साथ भजन कीर्तन किया। इस साल राहुल 16वीं बार मंदिर की शरण में गए। इससे पहले, वे 15 मंदिरों में दर्शन कर चुके हैं। उनकी मंदिर यात्रा यूपी विधानसभा चुनाव से शुरू हुई थी। मंदिर जाने के मामले में राहुल ने नरेंद्र मोदी को पीछे छोड़ दिया है। बता दें कि गुजरात में इस साल के आखिर में विधानसभा चुनाव होने हैं। मोदी-शाह ने किया विकास को पागल, कांग्रेस इसे पागलखाने के बाहर लाएगी

– न्यूज एजेंसी के मुताबिक कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने राज्य में अपने चुनावी कैम्पेन की शुरुआत 25 सितंबर को द्वारकाधीश मंदिर से की थी। वे मंगलवार को छोटा उदैपुर जिला पहुंचे थे, जहां उन्होंने आदिवासियों के साथ ‘टिमली’ डांस किया था।
– राहुल ने दौरे के आखिरी दिन भी सत्तारूढ़ बीजेपी के खिलाफ आक्रामक तेवर जारी रखा। उन्होंने आरोप लगाया कि नरेंद्र मोदी और अमित शाह ने राज्य में विकास को पागल कर दिया है जिसे उनकी पार्टी विधानसभा चुनाव में जीत के बाद पागलखाने से बाहर लाएगी।
– राहुल ने यह भी दावा किया कि गुजरात में बीजेपी ऊपर से शांत दिख रही है, पर असल में इसके पैर के नीचे से जमीन खिसक गई है क्योंकि मोदी जी की इमेज पर भरोसा जताने वाली जनता अब उनकी सच्चाई समझ गई है।
डोनेशन देने वाले स्टूडेंट्स को नहीं मिलती नौकरी
– राहुल चुनाव के मद्देनजर अपनी नवसर्जन गुजरात यात्रा के दूसरे फेज के आखिरी दिन दाहोद जिले के आदिवासी बहुल देवगढ़ बारिया पहुंचे। वहां एक सभा में उन्होंने कहा कि गुजरात में 5 से 10 लाख डोनेशन देकर कॉलेज में एडमिशन लेने वाले स्टूडेंट्स को पढ़ने के बाद नौकरी नहीं मिलती। लिहाजा ऐसी एजुकेशन सिस्टम का क्या मतलब है?
– “डोनेशन की रकम 5-10 इंडस्ट्रियलिस्ट्स ले जाते हैं। सरकार कहती है कि नौकरी नहीं है। ये इंडस्ट्रियलिस्ट्स 1000 करोड़ के घर में रहते हैं और बड़ी-बड़ी गाड़ियों में चलते हैं। गुजरात में 30 लाख बेरोजगार युवा हैं।”
कैश में कारोबार करने वाले तबाह हो गए
– राहुल ने नोटबंदी को लेकर भी मोदी पर निशाना साधा। कहा कि इससे कैश में काम करने वाले छोटे कारोबारी तबाह हो गए। जनता चोर बन गई जबकि असली चोरों ने काले धन को सफेद कर लिया। इसके बाद सरकार ने आधी रात को जीएसटी लागू कर रही-सही कसर भी पूरी कर दी। जीडीपी की ग्रोथ रेट 4.2 प्रतिशत तक गिर गई है। पूरे देश में आग लग गई है।
पेट्रोल, सब्जी, शिक्षा, हेल्थ सर्विस सब महंगा
– कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने महंगाई का मुद्दा भी उठाया और कहा कि दुनिया भर में क्रूड ऑयल की गिरती कीमत के बावजूद भारत में पेट्रोल के दाम बढ़ते जा रहे हैं। सब्जी, शिक्षा, हेल्थ सर्विस सब महंगा हो गया है, जबकि मोदी जी महंगाई कम करने की बात करते थे। उन्होंने आदवासियों से भी झूठे वादे किए। 2007 में 15 हजार करोड़ और 2012 में 40 हजार करोड़ आदिवासी विकास के लिए देने की बात कही थी। इन्हें घर, रोजगार, बिजली और अन्य सुविधाएं देने की बात की थी, पर क्या हुआ।
कांग्रेस गुजरात मॉडल लाकर देश को रास्ता दिखाएगी
– राहुल ने कहा कि गुजरात में अब बदलाव का समय आ गया है। कुछ ही महीने में यहां चुनाव होंगे, नई सरकार बनेगी। वह सरकार प्रधानमंत्री की तरह मन की बात नहीं करेगी, जनता के मन की बात सुनेगी और उसके हिसाब से काम करेगी। गुजरात में मोदी जी का मॉडल चुने हुए इंडस्ट्रियलिस्ट्स के लिए है।
– “इसकी जगह कांग्रेस की सरकार पूर्व में पूरे देश को रास्ता दिखाने वाले गुजरात का मॉडल लाकर फिर से देश को रास्ता दिखाएगी। गुजरात ने महात्मा गांधी, सरदार पटेल, श्वेत क्रांति जैसी चीजें देश को दी हैं।” राहुल ने यह भी दोहराया कि कांग्रेस की सरकार बनते ही राज्य में किसानों का कर्ज माफ कर दिया जाएगा।
एक साल में मोदी 12 मंदिरों की शरण में
– राहुल के बाद नरेंद्र मोदी भी 2 दिन के दौरे पर 7 अक्टूबर को गुजरात पहुंचे थे। इसकी शुरुआत उन्होंने द्वारकाधीश मंदिर में पूजा-अर्चना से की थी। मोदी के द्वारकाधीश मंदिर की इस यात्रा को राहुल गांधी की यात्रा का जवाब माना गया। राहुल इससे पहले अपने 3 दिन के गुजरात दौरे पर द्वारकाधीश समेत 5 मंदिरों में दर्शन के लिए पहुंचे थे।
– पिछले कुछ महीनों से राहुल और मोदी के बीच में मंदिरों में पहुंचने की होड़ लगी है। हालांकि, राहुल ने हाल-फिलहाल में मंदिर जाने के मामले में मोदी को पीछे छोड़ दिया है। राहुल यूपी विधानसभा चुनाव से अब तक 16 मंदिरों में दर्शन के लिए पहुंचे हैं। वहीं, मोदी 12 मंदिरों में गए हैं। पिछले एक महीने में देखें तो मोदी 4 मंदिर और एक मस्जिद में गए हैं, जबकि राहुल 7 मंदिरों में गए हैं।
राहुल ने गुजरात दौरे के आखिरी दिन किया भजन-कीर्तन, इस साल 16वीं बार मंदिर गए, national news in hindi, national news
राहुल गांधी ने दाहोद जिले के सलैया गांव में संत कबीर मंदिर में दर्शन किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here