सेमिनार में विदेशों में रचित राम साहित्य की जानकारी दी गई

7

Source: bhaskar.com

सेक्टर-46के पोस्ट ग्रेजुएट गवर्नमेंट कॉलेज में हिंदी विभाग द्वारा आयोजित दो दिवसीय इंटरनेशनल सेमिनार शुक्रवार से…

सेमिनार में विदेशों में रचित राम साहित्य की जानकारी दी गई

सेक्टर-46के पोस्ट ग्रेजुएट गवर्नमेंट कॉलेज में हिंदी विभाग द्वारा आयोजित दो दिवसीय इंटरनेशनल सेमिनार शुक्रवार से शुरू हुआ। इसे अयोध्या शोध संस्थान के सौजन्य से आयोजित किया गया। बेल्जियम से आए डॉ. रमेश चन्द्र शर्मा ने यूरोप की संस्कृति में राम साहित्य के प्रभाव पर प्रकाश डाला। चीन से आए विद्वान डॉ. गुणशेखर ने चीन में राम साहित्य की उपलब्धता पर विद्वतापूर्ण व्याख्यान प्रस्तुत किया। शिमला के डॉ.राजेंदर मिश्र ने दक्षिण एशिया के देशों में राम और राम साहित्य के स्रोतों पर विचार व्यक्त किए। गुजरात से आए डॉ. नवनीत चौहान ने भी अपने विचार रखे। डॉ. हरमहिंदर सिंह बेदी ने अध्यक्षीय भाषण में पंजाब में रचित राम साहित्य पर विस्तार से चर्चा की। इसके अलावा उनकी पुस्तक पंजाब का राम काव्य और डॉ. सुखदेव सिंह मिन्हास की पुस्तक हिंदी संत साहित्य का पुनर्पाठ का विमोचन किया गया। सेमिनार के पहले दिन देश विदेश से पहुंचे लगभग 100 प्रतिभागियों ने शिरकत की। दूसरे सत्र में पंजाब यूनिवर्सिटी के हिंदी विभाग के पूर्व अध्यक्ष डॉ.अशोक सभ्रवाल, डॉ. उमापति दीक्षित, डॉ. भावेश,डॉ हरीश अरोड़ा अादि विद्वानों ने प्रस्तुत विषय पर व्याख्यान दिए। इस मौके पर पंजाब यूनिवर्सिटी के सीनेटर प्रो. मुकेश अरोड़ा विशेष मेहमान के रूप में उपस्थित थे। इस दौरान पटियाला की मीनाक्षी वर्मा, चंडीगढ़ की डॉ. अनीता और डॉ. प्रतिभा आदि भी शामिल रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here